" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- आचार्य राज मिश्रा
" ज्योतिष भाग्य नहीं बदलता बल्कि कर्म पथ बताता है , और सही कर्म से भाग्य को बदला जा सकता है इसमें कोई संदेह नहीं है "
- आचार्य राज मिश्रा
Pt Deepak Dubey

कुम्भ लग्न

कुम्भ लग्न

लग्नेश शनी शुभ अवस्था में हो तो जातक मध्यम अथवा ऊँचे कद वाला , सुंदर ,प्रभावशाली व्यक्तित्व होगा। बुद्धिमान , साधन सम्पन्न , तीव्र स्मरण शक्ति एवं गम्भीर प्रकृति वाला होगा। दुसरो के प्रति दयाभाव रखने वाला , परोपकारी मित्रो एवं सगे – सम्ब्न्धिओं के लिए हर प्रकार से सहायक होगा। व्यवहार कुशल , मिलनसार , सप्स्टवादी एवं निस्वार्थ भाव से सेवा करने में उघमी , परिश्रमी प्रकृति एवं प्रबन्धात्मक योग्यता विशेष होगी एवं उपयुक्त साधन उपलब्ध होने पर देश – विदेशो में जाने के सुअवसर प्राप्त होंगे। महत्वकांशी होते हुए भी क्रियात्मक दृश्टिकोण रखेंगे तथा अनेक विघ्न – बाधाओं व कठिनाईओ के होने पर भी जीवन में उच्च इस्तिथि , धन पदादि प्राप्त करने में सफल होंगे। कुम्भ लग्न में यदि गुरु मित्र क्षेत्री या शुभ में होतो जातक उच्चाधिकारी ,उच्चपदासीन , क्रय – विक्रय , प्रोफेसर , जज – वकील अथवा उच्च एवं धनीव्यापारी होगा , प्राम्भिक जीवन में आर्थिक क्षेत्र में विशेष संघर्ष होगा। आर्थिक क्षेत्र में विशेष संघर्ष व कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा। शुभ नग नीलम है। महिलाओं के लिए पुखराज नग शुभ होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Buy now